जल्द लौटेंगी बेनजीर भुट्टो

पाकिस्तान की पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो ने कहा है कि राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ से समझौता न हो पाने की स्थिति में भी वे शीघ्र ही पाकिस्तान लौटआएंगी।

उन्होंने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि उनकी वापसी के बारे में घोषणा पार्टी की तरफ से 14 सितंबर को की जाएगी।उन्होंने कहा कि सत्ता हस्तांतरण को लेकर राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ से समझौते में 80 प्रतिशत कामयाबी मिली थी लेकिन यह पूरा नहीं हो पाया है।

पूर्व प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ ने भी गत सप्ताह गुरूवार को ऐलान किया था कि वह दस सितंबर को पाकिस्तान लौटेंगे और परवेज मुशर्रफ को सत्ता से हटाने का अभियान शुरू करेंगे।

खुर्शीद ने कहा, बेनजीर का स्वागत करेंगे

पाकिस्तान के विदेशमंत्री खुर्शीद महमूद कसूरी ने पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो की स्वदेश वापसी का स्वागत किया है और कहा है कि इससे देश में राजनीतिक स्थायित्व को बनाने में मदद मिलेगी।

पाकिस्तानी मीडिया में इस बारे में आई रिपोर्ट्स में कसूरी ने कहा है कि पीपीपी अध्यक्ष बेनजीर की स्वदेश वापसी पर वे उनका स्वागत करेंगे। उन्होंने यह भी कहा है कि पाकिस्तान सरकार चुनाव में सभी राजनीतिक पार्टियों की भागीदारी तय करना चाहती है और भुट्टो की वापसी इस दिशा में एक सकारात्मक संकेत होगा।

कसूरी का कहना है कि सरकार सभी राजनीतिक पार्टियों से संपर्क भी कर रही है और इसमें पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की पाकिस्तान मुस्लिम लीग (एन) भी शामिल है।

उन्होंने कहा कि शरीफ की वापसी से पहले सरकार ने उनकी पार्टी के आलाकमान से बात करने की कोशिश की थी, लेकिन सरकार के प्रति उनके रूखे व्यवहार के कारण बातचीत सफल न हो सकी।

राष्ट्रपति के रूप में मुशर्रफ मुझे मंजूर : बेनजीर

पाकिस्तान की पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो ने कहा है कि यदि वे प्रधानमंत्री चुनी जाती हैं तो राष्ट्रपति के रूप में परवेज मुशर्रफ उन्हें स्वीकार्य हैं।

एक टीवी चैनल को दिए गए इंटरव्यू में पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी की प्रमुख बेनजीर भुट्ठटो ने कहा कि यह पाकिस्तान की जनता को फैसला करना है कि कौन देश का प्रधानमंत्री और कौन राष्ट्रपति बनेगा। उन्होंने कहा कि वे पाकिस्तान की अदालत और पाकिस्तान की जनता दोनों के फैसले का वह स्वागत करेंगी।

गौरतलब है राष्ट्रपति मुशर्रफ के संबंध में आज सुप्रीम कोर्ट अपना फैसला सुना सकता है कि एक साथ दो पदों पर रहते हुए मुशर्रफ राष्ट्रपति का चुनाव लड़ सकते हैँ या नहीं। मुशर्रफ ने राष्ट्रपति चुनाव के लिए कल अपना नामांकन दाखिल किया था।

बेनजीर भुट्टो ने कहा कि आतंक के खिलाफ लड़ाई में वे अमेरिका का साथ देंगी। उन्होंने कहा यदि उनकी पार्टी यदि सरकार बनाने में सफल रही तो वे जनजातीय इलाके के लोगों को अधिक से अधिक सुविधाएं मुहैया कराएंगी ताकि इन इलाके के लोग अपने को अधिकार संपन्न महसूस करें और देश की प्रगति के लिए आगे आएं। बेनजीर ने कहा कि वे सीमापार आतंक के खात्मे का भी पूरा प्रयास करेंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *