ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 9 विकेट से रौंदा

विश्व चैंपियन ऑस्ट्रेलिया ने चंडीगढ़ में हुई हार के बाद धमाकेदार वापसी करते हुए सात वन डे सीरीज के पांचवे मैच में मेजबान को 9 विकेट से रौंद दिया। इसके साथ ही सीरीज में अब उसने 3-1 की अपराजय बढ़त बना ली है।

ऑस्ट्रेलिया को जीत के लिए सिर्फ 149 रनों का लक्ष्य मिला था जो उसने महज 25.5 ओवरों में 1 विकेट खोकर ही हासिल कर लिया। सलामी बल्लेबाज एडम गिलक्रिस्ट 79 और पोंटिंग 39 रन बनाकर अविजित रहे।

इससे पहले टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम का मंसूबा 300 से अधिक का स्कोर खड़ाकर सीरीज में वापसी के साथ 400 वां मैच खेल रहे महान बल्लेबाज सचिन तेंडुलकर को यादगार ट्रीट देना था, लेकिन शुरुआत के कुछ ओवरों में ही यह साबित हो गया कि यह मैच सचिन के लिए जल्दी भूल जाने वाला मैच साबित होगा। 9.2 ओवरों में ही मेजबान टीम 43 रन पर 5 विकेट खोकर मैच से लगभग बाहर हो चुकी थी।

सचिन ने सबसे अधिक 47 रन की पारी खेली। दूसरे छोर से स्थापित बल्लेबाज एक-एक करके विकेट गंवाते रहे। गांगुली(0), द्रविड़(0), युवराज(1),उथप्पा(5) धोनी(4) में से कोई भी दहाई तक नहीं पहुंच पाया। गांगुली और द्रविड़ के विकेट तो पहले ही ओवर में गिर गए। गांगुली के विकेट के लिए सचिन को भी जिम्मेदार ठहराया जा सकता है। रन के लिए काल करने के बाद मास्टर ब्लॉस्टर के कदम ठिठक गए और लौटते गांगुली मिड ऑफ से हॉज के सटीक थ्रो का निशाना बन गए। ली की अगली ही गेंद पर द्रविड़ एलबीडब्ल्यू करार दिए गए। इसके बाद भारत कभी भी वापसी नहीं कर पाया।

सचिन और इरफान (26) ने 49 रन जोड़कर भारत की स्थिति को और शर्मसार होने से बचाया। सचिन के छठे विकेट के रूप में आउट होने के वक्त भारत का स्कोर 92 रन ही था। जहीर खान(28) और आरपी (12) ने अंतिम विकेट के लिए 42 रन की भागीदारी निभाकर स्कोर को 148 तक पहुंचाया। निचले क्रम के बल्लेबाजों का प्रदर्शन इस बात का साफ संकेत है कि भारत के टॉप आर्डर ने कितना शर्मनाक खेल दिखाया। ऑस्ट्रेलिया की ओर से मैन ऑफ द मैच रहे मिशेल जानसन ने 26 रन देकर 5 विकेट लिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *